Om Jai Jagdish Hare Lyrics - Anuradha Paudwal

Om Jai Jagdish Hare Lyrics - Anuradha Paudwal Lyrics

Lokapriy aaratee om jay jagadeesh hare  pan.Shraddhaaraam phillauree dvaara san 1870 mein likhee gaee thee. Yah aaratee bhagavaan vishnu ko samarpit hai is aaratee ko kisee bhee pooja, utsav par gaaya jaata hain.

Om Jai Jagdish Hare Lyrics - Anuradha Paudwal
Om Jai Jagdish Hare Lyrics - Anuradha Paudwal

Singer Anuradha Paudwal
Song Writer Shardha Ram Phillauri.

Om Jai Jagdish Hare Lyrics in Hindi

ॐ जय जगदीश हरे
स्वामी जय जगदीश हरे
भक्त जनों के संकट 
दास जनों के संकट
क्षण में दूर करे

जो धयावे फल पावे दुःख बिनसे मन का
स्वामी दुःख बिनसे मन का
सुख संपति घर आवे
सुख संपति घर आवे
कष्ट मिटे तन का
।। ॐ जय जगदीश हरे।।

माता-पिता तुम मेरे शरण गहुँ किसकी
स्वामी शरण गहुँ किसकी
तुम बिन और ना दूजा
तुम बिन और ना दूजा
आस करू मै जिसकी
।। ॐ जय जगदीश हरे।।

तुम पूरण परमात्मा तुम अंतरयामी
स्वामी तुम अंतरयामी
पारबृह्म परमेश्वर
तुम सबके स्वामी
।। ॐ जय जगदीश हरे।।

तुम करुणा के सागर तुम पालनकर्ता
स्वामी तुम पालनकर्ता
मैं मूर्ख फलकामी 
मैं सेवक तू स्वामी 
कृपा करो भर्ता
।। ॐ जय जगदीश हरे।।

तुम हो एक अगोचर सबके प्राणपति
स्वामी सबके प्राणपति
किस विधि मिलु दयामय 
किस विधि मिलु दयामय 
तुमको मैं कुमति
।। ॐ जय जगदीश हरे।।

दीन-बंधु दुःख-हर्ता ठाकुर तुम मेरे 
स्वामी रक्षक तुम मेरे
अपने हाथ उठाओ
अपने शरण लगाओ
द्वार पड़ा तेरे
।। ॐ जय जगदीश हरे।।

विषय-विकार मिटाओ पाप हरो देवा
स्वामी कष्ट हरो देवा
श्रद्धा भक्ति बढ़ाओ
श्रद्धा भक्ति बढ़ाओ
सन्तन की सेवा
।। ॐ जय जगदीश हरे।।

तन मन धन सब कुछ है तेरा
स्वामी सब कुछ है तेरा
तेरा तुझको अर्पण
क्या लागे मेरा 
।। ॐ जय जगदीश हरे।।

ॐ जय जगदीश हरे
स्वामी जय जगदीश हरे
भक्त जनों के संकट 
दास जनों के संकट
क्षण में दूर करे
।। ॐ जय जगदीश हरे।।

ॐ जय जगदीश हरे
स्वामी जय जगदीश हरे
भक्त जनों के संकट 
दास जनों के संकट
क्षण में दूर करे
।। ॐ जय जगदीश हरे।।

Om Jai Jagdish Hare Lyrics in English

om jay Jagadeesh hare
svaamee jay jagadeesh hare
bhakt janon ke sankat 
daas janon ke sankat
kshan mein door kare

jo dhayaave phal paave duhkh binase man ka
svaamee duhkh binase man ka
sukh sampati ghar aave
sukh sampati ghar aave
kasht mite tan ka
.. om jay jagadeesh hare..

maata-pita tum mere sharan gahun kisakee
svaamee sharan gahun kisakee
tum bin aur na dooja
tum bin aur na dooja
aas karoo mai jisakee
.. om jay jagadeesh hare..

tum pooran paramaatma tum antarayaamee
svaamee tum antarayaamee
paarabrhm parameshvar
tum sabake svaamee
.. om jay jagadeesh hare..

tum karuna ke saagar tum paalanakarta
svaamee tum paalanakarta
main moorkh phalakaamee 
main sevak too svaamee 
Kripa Karo bharta
.. om jay jagadeesh hare..

tum ho ek agochar sabake praanapati
svaamee sabake praanapati
kis vidhi milu dayaamay 
kis vidhi milu dayaamay 
tumako main kumati
.. om jay jagadeesh hare..

deen-bandhu duhkh-harta thaakur tum mere 
svaamee rakshak tum mere
apane haath uthao
apane Sharan lagao
dvaar pada tere
.. om jay jagadeesh hare..

vishay-vikaar mitao paap haro deva
svaamee kasht haro deva
shraddha bhakti badhao
shraddha bhakti badhao
santan kee seva
.. om jay jagadeesh hare..

tan man dhan sab kuchh hai tera
svaamee sab kuchh hai tera
tera tujhako Arpan
kya laage mera 
.. om jay jagadeesh hare..

om jay jagadeesh hare
svaamee jay jagadeesh hare
bhakt janon ke sankat 
daas janon ke sankat
kshan mein door kare
.. om jay jagadeesh hare..

om jay jagadeesh hare
svaamee jay jagadeesh hare
bhakt janon ke sankat 
daas janon ke sankat
kshan mein door kare
.. om jay jagadeesh hare..


थोड़ा सा निवेदन। क्या आपको सैन्ट  Om Jai Jagdish Hare Lyrics पसंद है। तो कृपया इसे शेयर करें। क्योंकि इसे साझा करने में आपको केवल एक मिनट का समय लगेगा। लेकिन यह हमारे लिए उत्साह और साहस प्रदान करेगा। जिसकी मदद से हम आपके लिए सभी नए गानों के बोल इसी तरह से लाते रहेंगे।

टिप्पणी पोस्ट करें

please do not enter any spam link in the comment box