SHOORVEER - A tribute to Maharana Pratap Ji Lyrics

SHOORVEER - A tribute to महाराणा प्रताप जी Lyrics - Rapperiya Baalam Lyrics

राजस्थान की तेजस्वी व ओजस्वी, जप-तप, धर्म-कर्म गुणों से परिपूर्ण माटी में कई वीर-वीरांगनाओं ने जन्म लेकर इसका रुतबा ऊंचा किया है लेकिन महाराणा प्रताप उन चुनिंदा शासकों में से एक हैं जिनकी वीरता, शौर्य-पराक्रम के किस्से और गौरवमयी संघर्ष गाथा को सुनकर हर किसी की छाती फुलकर चौड़ी हो जाती हैं । अमर राष्ट्रनायक, दृढ़ प्रतिज्ञ और स्वाधीनता के लिए जीवन भर दुश्मनो से मुकाबला करने वाले साहसिक रणबांकुर महाराणा प्रताप को जंगल-जंगल भटक कर घास की रोटी खाना मंजूर था, लेकिन किसी भी परिस्थिति व प्रलोभन में उन्होने अपनी स्वतंत्रता के साथ समझौता नहीं किया ओर मरते दम तक किसी की अधीनता स्वीकार नहीं की ।

भारतीय इतिहास मे महाराणा प्रताप जैसे वीर शिरोमणि को उचित स्थान नही मिला है। "शूरवीर" गीत उस महान वीर पुरुष के व्यक्तित्व का आईना हैं । वर्तमान मे हमारी सीमाओं पर भारत भूमि की आन बान ओर शान के लिये लड़ रहे उन लाखो वीर योद्धाओ और शूरवीरो को भी हम नमन प्रकट करते है । ये गीत ट्रूपर रिकॉर्ड द्वारा जारी किया जा रहा हैं जिसके निर्माता हनी शर्मा हैं सँगीत निर्देशक व गायक रेपरिया बालम हैं व इसे रजनीश जयपुरी ने लिखा हैं।

SHOORVEER - A tribute to Maharana Pratap Ji Lyrics
SHOORVEER - A tribute to Maharana Pratap Ji Lyrics
Singer Rapperiya Baalam
Music Rapperiya Baalam
Song Writer Rajneesh Jaipuri

SHOORVEER - A tribute to महाराणा प्रताप जी Lyrics Hindi

ले हाथ खड़ग कांधे भाला
सीने में धधकती ले जवाला
चेतक संग चल कूच पड़ा
बण शूरवीर वो टूट पड़ा

ओ माटी मेवाड़ा री सुण मावड़ राणा री
मस्तक तेरा टिक्का शान मेरी
नहीं जावण दूँगा आन तेरी
तुझको ये जुबान मेरी तुझपे वारूँगा जान मेरी
बलि तुझपे प्राणा री ओ माँ तू मेवाड़ा राणा री

रण भूमि जब निकल पडू
सीने में धधकती अंगार रहे
बण काल दुश्मनों पर गिरु मुख से निकलती ललकार रहे
कट्टे शीशों का अम्बर करू जब तक हाथों में तलवार रहे
रण विजय का वरण करू एकलिंग जी की जयकार रहे
लहू में मेरे जवाला ताप करे मन
शत्रू का भयंकर कांप करे
कण कण से आती ये आवाज रहे
मेरी मातृभूमि हमेशा आजाद रहे

म्हारी जामण तू म्हारी मावड़ तू
स्वाभिमान कदे ना खोवण दु
कटे शीश पड़े पर आये पाग नहीं
पराधीन खड़े ना होवण दु

ओ माटी मेवाड़ा री सुण मावड़ राणा री
मस्तक तेरा टिक्का शान मेरी
नहीं जावण दूँगा आन तेरी
तुझको ये जुबान मेरी तुझपे वारूँगा जान मेरी
बलि तुझपे प्राणा री ओ माँ तू मेवाड़ा राणा री

पराधीन किसी के ना हो कायम तेरा ये स्वाभिमान रहे
प्राण लिया लाज बचाने का व्यर्थ ना मेरा कभी ये बलिदान रहे
फले फुले कोन कोन तेरा हरे भरे तेरे खेत खलिहान रहे
ओ माटी सबकी मात धारा तेरा देश ये भारत महान रहे
जब तक सूरज प्रकाश रहे रंग केशरिया आबाद रहे
ओ मेरे जाने के बाद भी लोगो के दिलो में तेरा बेटा महाराणा प्रताप रहे

लड़कर रण मीटी हो जाऊ मरकर कण मीटी हो जाऊ
स्वीकार नहीं मेरी मातभूम कोई आकर तुझ पर वार करे


ओ माटी मेवाड़ा री सुण मावड़ राणा री
मस्तक तेरा टिक्का शान मेरी
नहीं जावण दूँगा आन तेरी
तुझको ये जुबान मेरी तुझपे वारूँगा जान मेरी
बलि तुझपे प्राणा री ओ माँ तू मेवाड़ा राणा री

जैसे एक चिंगारी लगा देती है पूरे जंगल में आग
ऐसे थे वीरों के वीर महाराणा प्रताप
नहीं भूलेंगे रणभूमि में लहू बहाया
प्यारी थी इतनी आज़ादी रह जंगल में जीवन बिताया
रण छैत्र में पलट कर बाज़ी �

SHOORVEER - A tribute to महाराणा प्रताप जी Lyrics English

le haath khadag kaandhe bhaala
seene mein dhadhakatee le javaala
chetak sang chal Kooch pada
ban shooraveer vo toot pada

o maatee mevaada ree sun maavad raana ree
mastak tera tikka shaan meree
nahin jaavan doonga aan teree
tujhako ye jubaan meree tujhape vaaroonga jaan meree
bali tujhape praana ree o maan too mevaada raana ree

ran bhoomi jab nikal padoo
seene mein dhadhakatee angaar rahe
ban kaal dushmanon par giru mukh se nikalatee lalakaar rahe
katte sheeshon ka ambar karoo jab tak haathon mein talavaar rahe
ran vijay ka varan karoo ekaling jee kee jayakaar rahe
lahoo mein mere javaala taap kare man
shatroo ka bhayankar kaamp kare
kan kan se aatee ye aavaaj rahe
meree maatrbhoomi hamesha aajaad rahe

mhaaree jaaman too mhaaree maavad too
svaabhimaan kade na khovan du
kate sheesh pade par Aaye paag nahin
paraadheen khade na hovan du

o maatee mevaada ree sun maavad raana ree
mastak tera tikka shaan meree
nahin jaavan doonga aan teree
tujhako ye jubaan meree tujhape vaaroonga jaan meree
bali tujhape praana ree o maan too mevaada raana ree

paraadheen kisee ke na ho kaayam tera ye svaabhimaan rahe
praan liya laaj bachaane ka vyarth na mera kabhee ye balidaan rahe
phale phule kon kon tera hare bhare tere khet khalihaan rahe
o maatee sabakee maat dhaara tera desh ye bhaarat mahaan rahe
jab tak sooraj prakaash rahe rang keshariya aabaad rahe
o mere jaane ke baad bhee logo ke dilo mein tera beta mahaaraana prataap rahe

ladakar ran meetee ho jaoo marakar kan meetee ho jaoo
sveekaar nahin meree maatabhoom koee aakar tujh par vaar kare


o maatee mevaada ree sun maavad raana ree
mastak tera tikka shaan meree
nahin jaavan doonga aan teree
tujhako ye jubaan meree tujhape vaaroonga jaan meree
bali tujhape praana ree o maan too mevaada raana ree

jaise ek chingaaree laga detee hai poore jangal mein aag
aise the veeron ke veer mahaaraana prataap
nahin bhoolenge ranabhoomi mein lahoo bahaaya
pyaaree thee itanee aazaadee rah jangal mein jeevan bitaaya
ran chhaitr mein palat kar baazee �



थोड़ा सा निवेदन। क्या आपको SHOORVEER - A tribute to Maharana Pratap Ji Lyrics पसंद है। तो कृपया इसे शेयर करें। क्योंकि इसे साझा करने में आपको केवल एक मिनट का समय लगेगा। लेकिन यह हमारे लिए उत्साह और साहस प्रदान करेगा। जिसकी मदद से हम आपके लिए सभी नए गानों के बोल इसी तरह से लाते रहेंगे।

  Enjoy and stay connected with us !!

एक टिप्पणी भेजें

please do not enter any spam link in the comment box